Tag Archives: छतरपुर

भीषण सड़क हादसा, 8 लोगों की गई जान


मुलतापी समाचार मनोज कुमार अग्रवाल

छतरपुर: जिले के बमीठा थाना क्षेत्र अंतर्गत पन्ना रोड पर जखीरा टेख मंदिर के पास सोमवार को दोपहर में एक तेज रफ्तार कार ने सामने से आ रही तीन बाइक को जबरदस्त टक्कर मार दी और उसके बाद कार अनियंत्रित होकर पलट गई। बताया जा रहा है कि इस हादसे में 8 लोगों की मौत हुई है।

राहगीरों की सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची और मृतकों के शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज कर जांच शुरू कर दी है। मृतकों में एक छोटी बच्ची भी शामिल है। जानकारी के मुताबिक सोमवार को दोपहर करीब 1:00 बजे छतरपुर से पन्ना की तरफ जा रही एक तेज रफ्तार कार ने छतरपुर की तरफ आ रही तीन बाइकों को जोरदार टक्कर मार दी। हादसा इतना खतरनाक था कि देखने वाले के रोंगटे खड़े हो गए। तीन बाइकों के परखच्चे उड़ गए और उन पर सवार लोगों के शव खून से लथपथ सड़क पर बिखर गए। अभी मृतकों की शिनाख्त नहीं हो पाई है।

मुलतापी समाचार मनोज कुमार अग्रवाल

छतरपुर में खुला महिला पोस्ट ऑफिस, घर-घर डाक भी पहुंचाएगी महिला डाकिया


मुलतापी समाचार मनोज कुमार अग्रवाल

छतरपुर: महिला दिवस पर जिले में महिला पोस्ट ऑफिस का शुभारंभ किया गया! पोस्ट ऑफिस में अनुपमा जैन को पोस्टमास्टर बनाया गया है ,और शिवानी गुप्ता को डाक सहायक बनाया गया है! अनुपमा जैन मध्य प्रदेश लोक सेवा आयोग में नायब तहसीलदार के पद पर चयनित हैं किंतु अभी वे एक्सटेंशन लेकर डाक विभाग में अपनी सेवाएं दे रही हैं!

अधीक्षक पुष्पेंद्र सिंह ने बताया, छतरपुर डाक विभाग के अंतर्गत 4 जिले आते हैं जिसमें निवाड़ी,छतरपुर, पन्ना और टीकमगढ़ है! यह छतरपुर जिले का सौभाग्य है कि छतरपुर में प्रथम महिला डाकघर खुला है! इस डाकघर में सभी कर्मचारी महिलाएं रहेंगी!

मुलतापी समाचार

Honey trap case in MP: हनी ट्रैप मानव तस्करी मामले में सामने आए नामों की भूमिका पर रहस्य का पर्दा


हाईप्रोफाइल हनी ट्रैप से जुड़े मानव तस्करी मामले की एफआईआर में फरियादी की बेटी के बयानों में जिन लोगों के नाम सामने आ चुके हैं, उन पर चालान पेश हो जाने के बाद भी अब तक रहस्य का पर्दा पड़ा है। बयानों में जिस व्यक्ति के यहां राशि के लेन-देन की बात कही गई, उसके बारे में एसआईटी ने मौन साध रखा है।

इसी तरह छतरपुर कांग्रेस जिला अध्यक्ष के वीडियो से ब्लैकमेल की जानकारी होने तथा महिलाओं को इससे रोकने वाले छतरपुर के टीआई के नाम तक का खुलासा नहीं हो सका है। पुलिस अधिकारी का स्थानीय अधिकारी का नाम या पता छिपा रहे हैं तो कांग्रेस ने अभी तक जिला कांग्रेस अध्यक्ष से सवाल-जवाब भी नहीं किया है।

हनी ट्रैप मामले के चालान पेश हुए करीब दो सप्ताह हो चुके हैं, लेकिन उसमें फरियादी की बेटी मोनिका यादव के बयानों में जिन लोगों के नाम आए थे, आज तक उनकी भूमिका पर से पर्दा नहीं हट सका है। एसआईटी की जांच पर सवाल भी उठे हैं, जिसमें बयानों में जिन लोगों के नाम आए व जिनके घर में लेन-देन हुआ या जिन लोगों के बीच राशि का बंटवारा हुआ, उनकी प्रकरण में भूमिका क्या थी।

साथ ही छतरपुर में जिस पुलिस अधिकारी को कांग्रेस नेता के वीडियो महिलाओं के पास होने की जानकारी थी, वह अधिकारी कौन था और उसने जानकारी के बाद भी कोई कार्रवाई क्यों नहीं की। इन सवालों के जवाब भी अब तक नहीं मिल सके हैं।

कांग्रेस नेता पर पार्टी ने नहीं की कार्रवाई

मोनिका ने बयान में छतरपुर जिले में कांग्रेस नेता और उसके दो साथियों के ब्लैकमेल को लेकर जो बातें कहीं, उनमें पार्टी के जिम्मेदार नेता बचाव जैसी बातें कह रहे हैं। पीसीसी के एक पदाधिकारी ने यहां तक कहा है कि केवल किसी के आरोप लगा देने से कोई दोषी नहीं बन जाता।

इसी तरह मोनिका यादव द्वारा छतरपुर के जिस टीआई के बारे में बयान दिया गया था कि उसने कांग्रेस नेता को ब्लैकमेल करने से रोक दिया था। उसे वीडियो की पूरी जानकारी होने की बात भी मोनिका ने बयान में कही है। इस टीआई के बारे में अब तक क्षेत्रीय अधिकारियों एसपी, डीआईजी, आईजी तक को जानकारी नहीं है।

मुलतापी समाचार न्‍युज नेटवर्क