Tag Archives: बैैैैैतूल

नाले में डूबने से बच्चे की मौत टेमनी


मुलतापी समाचार

बैतूल। समीपी ग्राम टेमनी में नाले में डूबने से एक 4 साल के बच्चे की मौत हो गई। प्राप्त जानकारी के अनुसार टेमनी निवासी आयुष पिता रामदयाल अहाके (4) खेल-खेल में नाले में स्थित एक पानी भरे गड्ढे में डूब गया, इससे उसकी मौत हो गई। उसे जिला अस्पताल लाया गया है। कल सुबह पोस्टमार्टम के बाद शव को परिजनों को सौंपा जाएगा। पुलिस मर्ग कायम कर जांच कर रही है।

Multai राखीढाना में गेहूं की कालाबाजारी मामले में पांच लोगों पर एफआईआर दर्ज कराने के निर्देश


एसडीएम ने एएफओ को किया आदेशित

Multapi Samahcar

मुलताई। ग्राम राखीढाना में 5 अप्रैल को पीडीएस के 37 कट्टे गेहूं की कालाबाजारी के मामले में मुलताई एसडीएम सीएल चिनाप ने कनिष्ठ खाद्य आपूर्ति अधिकारी लोकेंद्र चौहान को कालाबाजारी में लिप्त पांच लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराने के आदेश दिए है। दरअसल प्रभात पट्टन विकासखंड के ग्राम राखीढाना में शासकीय उचित मूल्य दुकान का सेल्समेन शासकीय गेंहू की कालाबाजारी करते हुए पकड़ाया था। खाद्य विभाग द्वारा मौके पर पहुंचकर कार्रवाई की गई थी। खाद्य विभाग के एल एस चौहान ने बताया था कि राखीढाना स्थित शासकीय उचित मूल्य दुकान के सेल्समेन कल्लू राठौर द्वारा 37 कट्टे गेंहू दुकान में नहीं रखते हुए गांव की ही पूर्णा बाई उइके के मकान में रखा था। उसके द्वारा कोई संतोषप्रद जवाब नहीं दिया गया था। जिसके बाद उनके द्वारा उचित कार्रवाई के लिए एसडीएम को जांच प्रतिवेदन दिया गया था। जिसके बाद एसडीएम मुलताई ने उन्हें आदेशित किया है कि दुकान के विक्रेता कल्लू राठौर, खरीददार कैलाश पंवार, पूर्णा बाई, रामचरण कवड़ैती एवं ट्रैक्टर के ड्राइवर सुधार के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई जाए।

betul भैंसदेही में 54 घरों में 260 लोगों का किया स्वास्थ्य जांच, सामान्य सर्दी खांसी बुखार से पीड़ित 10 लोग


बुधवार को लिए गए 10 संदिग्धों के सैंपल, अब तक नहीं आई 52 सैंपलों की रिपोर्ट

मुलतापी समाचार

बैतूल। जिले के भैंसदेही में एक कोरोना संक्रमित मरीज मिलने के बाद कर्फ्यू लगाकर 3 किमी के क्षेत्र को कंटेनमेंट एरिया घोषित कर हर घर में लोगों का स्वास्थ्य परीक्षण किया जा रहा है। सीएमएचओ जीसी चौरसिया ने बुधवार 8 अप्रैल को जारी किए हेल्थ बुलेटिन में बताया कि भैंसदेही में स्वास्थ्य विभाग की टीमों ने 54 घरों का भ्रमण कर 260 लोगों की स्क्रीनिंग की है। इसमें सामान्य सर्दी, खांसी और बुखार से 10 लोग पीड़ित पाए गए हैं। विभाग की टीमें लगातार लोगों का स्वास्थ्य परीक्षण करने में जुटी हुई हैं।

सीएमएचओ श्री चौरसिया ने बताया कि जिले में अब तक 9 मरीजों को आइसोलेशन में भर्ती किया गया है जबकि 2149 लोगों को होम आइसोलेशन में रखा गया है। हालांकि होम आइसोलेशन से अब तक 782 लोग डिस्चार्ज भी हो चुके हैं। अब तक जिले भर में 26078 मरीजों की स्क्रीनिंग की गई है जिनमें सामान्य सर्दी, खांसी और बुखार के 2466 मरीज पाए गए हैं।

बैतूल – कोरोना से संघर्ष में जिले के निजी अस्‍पताल एवं डॉक्टर्स प्रशासन के कंधे से कंधा मिलाकर करेंगे सहयोग


निजी अस्पतालों के वेंटीलेटर जिला अस्पताल को उपलब्ध कराए जाएंगे

कलेक्टर ने मकान मालिकों को निजी क्षेत्र के स्वास्थ्यकर्मियों से इस माह किराया नहीं मांगने एवं मकान खाली नहीं कराने के दिए निर्देश

बैतल। बैठक को संबोधित करते कलेक्टर।

मुलतापी समाचार

बैतूल। कोरोना संक्रमण के विरूद्ध लड़ाई लड़ने में जिला प्रशासन के साथ जिले के निजी अस्पताल/नर्सिंग होम संचालक एवं निजी चिकित्सक भी पूरी शिद्दत के साथ आगे आए हैं। मंगलवार को कलेक्टर राकेश सिंह के साथ निजी चिकित्सालय व नर्सिंग होम संचालकों एवं निजी चिकित्सकों की बैठक में सभी ने इस लड़ाई में जिला प्रशासन का कंधे से कंधा मिलाकर साथ देने का आश्वासन दिया। साथ ही निर्णय लिया गया कि जिला चिकित्सालय जो कि कोविड-19 अस्पताल के रूप में घोषित है, उसे पूरी तरह आवश्यक उपकरणों से तैयार रखा जाएगा। बैठक में निर्णय लिया गया कि जिले के निजी अस्पतालों के लगभग 15 वेंटीलेटर उपलब्ध कराए जाकर जिला अस्पताल में एक पृथक ईकाई के रूप में लगाए जाएंगे। बैठक में विधायक डॉ. योगेश पण्डाग्रे, पुलिस अधीक्षक डीएस भदौरिया सहित जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी एमएल त्यागी, अपर कलेक्टर जेपी सचान, स्वास्थ्य अधिकारी एवं निजी चिकित्सालय व नर्सिंग होम संचालक व डॉक्टर्स मौजूद थे।

बैठक में तय किया गया कि कोरोना संक्रमण से बचाव के संबंध में आवश्यकता पडे पर जिले के समस्त निजी चिकित्सक अपनी सेवाएं देंगे। जो चिकित्सक यह सेवाएं देंगे, वे नगर में होटल अधिग्रहित कर ठहराए जाएंगे। बैठक में किसी भी आकस्मिक परिस्थिति में वेंटीलेटर सहित अन्य सभी उपकरण-सहायक उपकरण तथा दवाइयों की उपलब्धता एवं इनके उपार्जन के संबंध में भी चर्चा हुई, साथ ही यह निर्णय लिया गया कि उपरोक्त समस्त जरूरतें आवश्यकता पडे पर उपलब्ध रहेगी। बैठक में मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. जीसी चौरसिया ने बताया कि कोरोना पॉजीटिव मरीजों के इलाज के लिए चिकित्सकों एवं पैरामेडिकल स्टाफ द्वारा पहने जाने वाली सुरक्षा ड्रेस (पीपीई) अभी जिले में 110 नग से अधिक उपलब्ध है, आवश्यक मटेरियल बुलवाकर आगामी एक सप्ताह में इनको स्थानीय स्तर पर तैयार करवाया जाएगा। यह ड्रेस सभी निजी अस्पतालों को भी प्रदान की जाएगी।

बैठक में कलेक्टर के ध्यान में यह मुद्दा लाया गया कि निजी चिकित्सालयों में कार्य करने वाले नर्सिंग व सहायक स्टाफ जो नगर में विभिन्ना स्थानों पर किराए के मकान में रहते हैं, ऐसे लोगों को कुछ मकान मालिकों द्वारा आवास खाली करने के लिए कहा जा रहा है। इस संबंध में कलेक्टर ने स्पष्ट निर्देश दिए कि आपदा प्रबंधन अधिनियम 2005 व दंड प्रक्रिया संहिता की धारा 144 के अंतर्गत इस तरह का कृत्य पूर्णतः प्रतिषेध है। ऐसे मकान मालिकों पर आपराधिक कार्रवाई हो सकती है।

मुलतापी समाचार

छ: किसानों के मोटर पंप जब्त


मुलतापी समाचार

बैतूल। बिजली कंपनी के खेड़ी सांवलीगढ़ कार्यालय ने बकायादार किसानों पर शिकंजा कसना शुरू कर दिया है। इससे बकायादार किसानों में हड़कंप मचा है। खेड़ी सांवलीगढ़ बिजली वितरण केंद्र के जूनियर इंजीनियर विवेक सिंह उइके ने बताया की उन्होंने वसूली दल के साथ ग्राम रोंढ़ा और खडला में आधा दर्जन बकायादारों आनंद राव 52 हजार, देवइ बाई 68 हजार, कुंजीलाल, नोखेलाल, किसन बकायादारों के खेत से कुर्की कर मोटर पंप जब्ती की कार्रवाई की है।