Tag Archives: मध्यप्रदेश

दीपदान किया अधिकमास के अंतिम दिन…


कालापीपल बेहरावल अधिकमास के दौरान महिलाओं ने प्रतिदिन अल सुबह मंदिरों में पहुंचकर पूजा-पाठ कर भगवान की आरती में सम्मिलित होकर देव दर्शन किए शुक्रवार को अधिकमास के अंतिम दिन अमावस्या पर महिलाओं ने देहरी घाट पर गांव में तलाब या जलाशय में दीपदान किया इस अवसर पर महिलाओं ने निमवाल मंदिर पर पं.बाबूलाल दुबे के मंत्र उच्चारण के साथ हवन-पूजन किया इसके पश्चात भजन-कीर्तन के साथ महिलाओं ने गांव के डोलनाथ मंदिर दुर्गा मंदिर शनि मंदिर हिरामन महराज, गणेश मंदिर रामदेव मंदिर संकटमोचन हनुमान मंदिर राधा-कृष्ण मंदिर अम्बा माता मंदिर बड़ा मंदिर खेड़ापति हनुमान मंदिर गायत्री मंदिर शिव मंदिर सहित देव स्थानों पर दीपक अगरबत्ती लगाकर पान प्रसाद चढ़ाया गया…

तिल तिल मरते लोग, तड़पते लोग, फिर भी नहीं डरते लोग


यह है मध्य प्रदेश की जनता सब कुछ जानने लगी है

एक कदम सतर्कता एवं स्वच्छता की ओर

साथ ही पहचानने लगी है आए देखें चुनावी दंगल

मुलतापी समाचार

देर से ही सही समझ में आ रहा है जन मानस के

कोरोना ने छीनी हमारी खुशियां रोज़गार और तोड़े हमारे सपने।
मौत के आंकड़े धीरे-धीरे बढ़ते जा रहे, सौ से पहुंचे हज़ार और हज़ार से लाख में, यह सिलसिला बदस्तूर अब भी जारी है।आश्चर्य इस बात का है, जब लॉक डाउन की जरूरत नहीं थी तब सरकार ने लॉक डाउन लगाएं। 25 मार्च 2020 को भारत में केवल 571 कोरोना के मामले सामने आए थे, सरकार ने ताबड़तोड़ तरीके से पूरे भारत में एक साथ लॉकडाउन लगा दिया था, आज की स्थिति यह है, रोज़ तकरीबन 50 हज़ार से 60 हज़ार मामले दर्ज हो रहे हैं, कोरोना वायरस के कारण एक लाख नौ हज़ार लोगों ने अपनी जान‌ गवाई।
कोरोना वायरस संक्रमण ने पूरे भारत को अपनी चपेट में ले चुका है। हर रोज़ मौत के आंकड़े सैकड़ों की संख्या में बढ़ते जा रहे हैं, हज़ारों की संख्या में संक्रमितों के। इन सबके बीच उम्मीद की बात सिर्फ़ इतनी है कि बहुत से मामलों में लोग ठीक भी हुए हैं।
कोरोना वायरस से संक्रमित हर शख़्स का एक अलग अनुभव है, कुछ में इसके बेहद सामान्य या फिर यूं कहें कि बेहद कम लक्षण नज़र आते है, तो कुछ में यह काफी गंभीर, कुछ तो ऐसे मामले भी सामने आए हैं, जिनमें लक्षण वो थे ही नहीं जिनके बारे में स्वास्थ्य विभाग सचेत करता रहा है, लेकिन एक बार ये पता चल जाए कि आप संक्रमित हैं, तो अस्पताल जाने के अलावा दूसरा कोई विकल्प नहीं बचता है।
पर चुनाव के समय हमारे नेताओं को इन सब बातों से कोई लेना-देना नहीं, उनका लक्ष्य केवल चुनाव जीतना कोरोना से हमें कोई लेना देना नहीं।
कोरोना वायरस के बीच देश में पहला चुनाव और उप चुनाव होने जा रहा है, महामारी के बीच चुनाव आयोग की सबसे बड़ी चिंता यही थी कि चुनाव टाले जाएं या नहीं, महामारी में बड़े उतार-चढ़ाव दिख रहे है, फिर भी चुनाव की तारीख घोषित कर दी गई। मघ्य प्रदेश में उपचुनाव के दौरान सरकार ने नया फरमान जारी कर दिया पहले केवल 100 लोग चुनावी सभा में शामिल हो सकते थे, अब नए फरमान के अनुसार जितने लोग चाहें वह चुनावी रैलियों में जा सकते हैं, नेता जी के भाषण पर खूब तालियां बजा सकते हैं, बस सामाजिक दूरी का ध्यान रखना होगा। जब हमारे नेता सामाजिक दूरी का ध्यान नहीं रखते, तो आम जनता से क्या उम्मीद लगा सकते हैं। इसके बावजूद मध्य प्रदेश के नेता उप चुनाव की तैयारियों में लग गए हैं, सामाजिक दूरी का मखौल उड़ाते नेता, फिर से नेताओं की नौटंकी शुरू हो गई, लोगों को रिझाने के लिए नोट बाटे जा रहे हैं, लोगों के पैर छू छू कर वोटों की भीख मांग रहे हैं नेता। ऐसा लगता है,इन नेताओं से कोरोना वायरस डरता है, नेताओं के चेहरे से मास्क गायब, मास्क नहीं लगाने की मजबूरी नेताजी बड़े भोले अंदाज में बताते हैं, अगर जनता चेहरा नहीं देखेगी तो वोट कैसे देगी। नेताजी भूल गए कोरोना वायरस को।
गरीब जनता को खूब गले लगा रहे हैं, गरीबो के बच्चों को गोद में लेकर उनके गालों को चूम रहे हैं, बच्चे की बहती नाक अपने रुमाल से पोछ कर अपना प्यार जनता पर लुटा रहे हैं। चुनाव हारने का डर नेताजी से ज्यादा उनकी पत्नी यानि मेमसाब को है, मेम साहब की रातों की नींद उड़ गई है, रात में बुरे बुरे सपने आते हैं, कि नेताजी चुनाव हार गए हैं, मेम साहब के ऐशो आराम खत्म हो गए हैं , मेम साहब की एक आवाज़ पर नौकर और नेताजी के चमचे दौड़कर मेमसाब की सेवा में लग जाते हैं, मेम साहब की एक आवाज़ पर चार चार गाड़ियां खड़ी हो जाती है, मेम साहब को रात में नेताजी के साथ नोट गिनने की मशीन पर नोट गिनने में बहुत मजा आता है, अगर नेताजी चुनाव हार जाएंगे, तो यह सब ऐशो आराम खत्म, इसलिए यह सब नौटंकी चुनाव के समय गरीब जनता के सामने की जाती है। यह प्यार केवल चुनाव जीतने तक सीमित रहता है। चुनाव जीतने के बाद नेताजी को गरीब जनता से एलर्जी हो जाती है, जब जनता नेताजी के पास पंहुचती है, तो नेता जी पहचान ने से इनकार कर देते हैं।
प्रदेश में उप चुनाव को लेकर नेताजी, लोगों को जोड़ने के लिए नए-नए हथकंडे अपना रहे हैं । कोई नोट बांट रहा हैं, कोई जनता के पैर पड़ कर माफी मांग रहा हैं, कोई मास्क और सैनिटाइजर बांट रहा हैं, इन हथकंडो के सहारे वोट जुटाने की जुगत में लग गए हैं। भागवत कथा, यज्ञ और भंडारे में लोगों को खास तवज्जो मिल रही है। कोई खिचड़ी बंटवा रहा, तो कोई दाल-बाफले की पार्टी दे रहा है। इतना ही नहीं साड़ी बंटवाने से लेकर धार्मिक यात्राएं के वादे भी किए जा रहे है। उपचुनाव में जबर्दस्त घमासान की उम्मीद है।
एक नेता जी ने लोगों के लिए प्रसाद से लेकर साबूदाने की खिचड़ी तक की व्यवस्था की है।
पर नेताजी कोरोना की बीमारी को भूल गए हैं, सामाजिक दूरी की धज्जियां उड़ाई जा रही है नेताजी के साथ उनके चमचों का हुजूम चल रहा है, जिनको रोज़ के ₹500 मिलते हैं, ना नेताजी के चेहरे पर मास्क होता है और ना ही उनके चमचों के।
वहीं आम जनता अगर गलती से बगैर मास्क के बाहर निकलती है, तो उनके ऊपर चालानी कार्रवाई की जाती है, रात 8:00 बजे पुलिस की गाड़ियों के सायरन बजना शुरू हो जाते हैं, छोटी-छोटी दुकानों से लेकर रोज़ कमाने खाने वाले ठेले वालों की जबरन दुकानें बंद करवाते हैं और ठेले हटवाते हैं, कोरोना का डर दिखाते हैं। ऐसा लगता है रात 8:00 बजे के बाद ही कोरोना वायरस के कीटाणु सक्रिय हो जाते हैं, इसीलिए पुलिस प्रशासन 8:00 बजे से पहले दुकानें बंद करवाना शुरू कर देते है, जितनी सख्ती आम लोगों के साथ और गरीब व्यापारियों के साथ होती है, उतनी सख्ती उप चुनाव के समय नेताओं के साथ हो तो माने के इंसाफ सबके लिए बराबर है ।

उपचुनाव में हमने देखा,
एक नेता जैसा आदमी ।
एक गरीब के पैर पर पड़ा
था, मुझे आश्चर्य हुआ
पता चला वह,
चुनाव में खड़ा था।। *जय हिंद जय भारत* *डॉ जाकिर शेख सब एडिटर मध्य प्रदेश*

मध्यप्रदेश में 12 प्रशासनिक अधिकारियों के तबादले


मध्यप्रदेश- मध्यप्रदेश में कोरोना काल के चलते और चुनाव की सरगर्मी के बीच एक बार फिर मध्यप्रदेश सरकार ने 12 प्रशासनिक अधिकारियों के तबादले कर दिए है। कोरोना काल के चलते जब पूरा प्रदेश परेशान हैं वही राज्य सरकार प्रशासनिक अधिकारियों के तबादले में मस्त है। ऐसा पहली बार नही जब राज्य सरकार ने प्रशासनिक अधिकारियों के दबालते किऐ हो इससे पहले भी राज्य सरकार के अनेक अधिकारियों के तबादले किए हैं। मध्यप्रदेश में बीजेपी के सत्ता में वापस लौटने और 28 सीटों पर होने वाले उपचुनावों के देखते हुए राज्य सरकार के अपने मनचाहे अधिकारियों के तबादले करा लिए थे। उसके बाद भी अभी तबादले करने से परहेज नहीं कर रही है। वही कांग्रेस सरकार को तबादला सरकार बताने वाली बीजेपी की सरकार भी कांग्रेस के पदचिन्हों पर चलने को मजबूर नज़र आ रही है।

अनियंत्रित होकर ट्रेक्टर गिरा खंती में, एक की मौत


आठनेर, बैतूल – बैतूल जिले के आठनेर क्षेत्र में बुधवार को हुए सड़क हादसे में ट्रैक्टर पर सवार एक युवक की मौत हो गई । जहाँ भैंसदेही मार्ग पर स्थित ज्वाला पेट्रोल पंप के समीप कल्टीवेटर सहित ट्रेक्टर खंती में गिर गया। जिसमें ट्रेक्टर चालक मौके से फरार हो गया जबकि ट्रैक्टर पर सवार एक अन्य व्यक्ति की मौत हुई हो गई है । प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक कृषि कार्य हेतु अपने खेत जा रहे ट्रेक्टर में पेट्रोल पंप से डीजल भरवाने के बाद कुछ दूरी पर जाकर अचानक  अनियंत्रित होकर कल्टीवेटर सहित ट्रेक्टर पलट गया।  मृतक युवक की पहचान विकेश 25 वर्षीय निवासी धामोरी के रूप में पहचान हुई है। थाना प्रभारी डीएस टेकाम ने बताया की धामोरी निवासी जयपाल माटे का ट्रेक्टर किराये पर मृतक के खेत जा रहा था तभी अचानक ट्रेक्टर रोड से खंती में जा गिरा जिसमें सवार की मौत हो गई । मृतक को आठनेर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र भवन लाया गया जहां डाक्टरों ने मृत घोषित किया पुलिस मामले की जांच कर रही है।

बैतूल जिले में अब तक का सबसे बड़ा कोरोना विस्फोट, मिलें 72 मरीज


मध्यप्रदेश के बैतूल जिले से जहाँ कोरोना संक्रमण बेकाबू होता जा रहा है. आज जिले में अब तक का सबसे बड़ा कोरोना विस्फोट हुआ है. जिले में रिकॉर्ड 73 मरीज कोरोना पॉजिटिव पाए जाने से आँकड़ा 1500 के करीब पहुंच गया है.

शनिवार को बैतूल ब्लॉक में 2, आठनेर में 12, भीमपुर में 10, चिचोली में 3, मुलताई में 10, घोड़ाडोंगरी में 7, भैसदेही में 6, शाहपुर में 2, आमला में 9, और सेहरा ब्लॉक में 12 लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं.

वही जिले में कोरोना से मौत का आँकड़ा 34 पर पहुंच गया है. मृतकों में अधिकतर लोग 60 वर्ष से अधिक आयु वाले है.

जिले में पिछले 15 दिनों में बड़ी संख्या में कोरोना के नये मरीज मिलने से स्वास्थ्य विभाग की चिंता काफी बढ़ गई है.

जिले में कोरोना मरीजों की संख्या 1448, जबकि ठीक हुए मरीजों की संख्या 930 है.

कोरोना के बढ़ते मरीजों की संख्या इतनी अधिक हो रही है कि शासन प्रशासन के पास कंटेनमेंट जोन बनाने के लिए बैरिकेड तक खत्म हो चुके हैं.

साथ ही कोविड सेन्टरों में बेड की कमी होने के कारण स्वास्थ्य विभाग ने मरीजों को होम आइसोलेट करना शुरू कर दिया है.

जिले में जनप्रतिनिधियों और कर्मचारियों के कोरोना पॉजिटिव प्राप्त होने से कोरोना का संक्रमण और भी बढ़ता जा रहा है.

कोरोनाकाल में राज्य शासन ने 17 अतिरिक्त पुलिस अधीक्षकों और 99 उप पुलिस अधीक्षकों के तबादले किये


राज्य सरकार द्वारा अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक स्तर और उपपुलिस अधीक्षक स्तर के एक सैकड़ा अधिकारियों के तबादले कर दिए गए है।

इन तबादलों का असर बैतूल जिले पर भी पड़ा है जहाँ देवनारायण यादव उपुअ जिला बैतूल से सहायक सेनानी हॉक फोर्स में पदस्थ किया गया है।

और संतोष कुमार पटेल उपुअ जिला बैतूल से सहायक सेनानी 13 वाहिनी, विसबल ग्वालियर में नवीन पदस्थापना की गई है।

और सुश्री सुरभि मीना उपुअ जिला रायसेन से उपपुलिस अधीक्षक महिला अपराध प्रकोष्ठ बैतूल में पदस्थ किया गया है।

राज्य शासन ने सोमवार रात 17 अतिरिक्त पुलिस अधीक्षकों और 99 उप पुलिस अधीक्षकों के तबादले किये हैं।

बैतूल में कोरोना हुआ काबू से बाहर


बैतूल जिले में कोरोना का कहर कम होने का नाम नही ले रहा है । सितम्बर माह में कोरोना की रफ्तार दोगुनी हो गई है।

साथ ही शासन-प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग की सभी योजनाएँ और प्रबंधन नाकाफी साबित हो रहे है.

आज जिलें में 41 लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए है.

भैसदेही विधायक धरमूसिंग सिरसाम अपने परिवार के पाँच सदस्यों के साथ कोरोना पॉजिटिव पाए गए है.

साथ ही बैतूलबाजार और शाहपुर टीआई की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई है.

आठनेर ब्लॉक के सहकारिता विभाग के तीन कर्मचारियों की भी कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई है.

जिलें में जनप्रतिनिधि और कर्मचारियों के कोरोना संक्रमित होने से संक्रमण का खतरा और भी बढ़ गया है.

वही शनिवार को भी जिलें में रिकार्ड 57 लोग कोरोना की चपेट में आए थे.

जबकि आज बैतूल शहर में 18, आठनेर में 5, चिचोली में 1, घोड़ाडोंगरी में 2, मुलताई में 2, भैसदेही में 5, शाहपुर में 1, आमला में 1 और सेहरा ब्लॉक में 5 लोगों की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव प्राप्त हुई है।

जिससे जिलें में कोरोना संक्रमितों की संख्या 1114 तक पहुंच चुकी हैं.

जिलें में मौतों का आँकड़ा भी गति पकड़ रहा है. पिछले 24 घंटों में तीन लोगों की मौत से आँकड़ा 25 पर पहुंच गया है.

जिलें में कोरोना संक्रमितों की संख्या 1114 एक्टिव केस 355, ठीक हुए लोगों की संख्या 734 जबकि मौतों की संख्या 25 हो चुकी है।

जिले में कोरोना का कहर जारी, आज 11 की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव


बैतूल/प्रदीप डिगरसे/01 अगस्त 2020

जिले में कोरोना का कहर जारी, आज 11 की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव, संख्या पहुंची 248

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग से मिली जानकारी के अनुसार जिले में 11 लोगों की कोरोना पॉजिटिव रिपोर्ट आई है । जिससे जिले में अब 248 लोग कोरोना संक्रमित हो चुके हैं। जिसमें से 64 केस एक्टिव है।

जिले के अन्य ब्लॉकों में कोरोना के मरीजो के मिलने से फिर मचा हड़कंप रक्षाबंधन के पावन पर्व पर कोरोना के लगातार केस बढ़ने से लोगों में दहशत का माहौल है। जिले के शाहपुर के पतवापुर में 1 मरीज, बारहवीं में 1 मरीज , मुलताई के हेटी में 3 मरीज , आमला के रेलवे कॉलोनी में 3 मरीज, पाथाखेड़ा में 1, प्रभातपट्टन के हिवरखेड़ में 1, रानीपुर में 1 मरीज के मिलने से ग्रामीणों में हड़कंप मच गया है। इन सभी मरीजो को मिलाकर आज जिले में कुल 11 मरीजो की रिपोर्ट पॉजिटिव है। जिन्हें 108 की सहायता से ब्लाकों में बने कोविड़ सेंटरों में भर्ती कराया जा रहा है साथ ही आज घोड़ाडोंगरी के कोविड़ सेंटर से कोरोना मुक्त होकर सोनी परिवार अपने घर पहुचा है एक ही परिवार के 3 लोग कोरोना से ग्रसित हुए थे। जो आज स्वस्थ होकर सुरक्षित अपने घर पहुचे है।


आज जिले में 11 नए पॉजिटिव कहाँ-कहाँ मिले

पाथाखेड़ा घोड़ाडोंगरी निवासी 29 वर्षीय युवक (बिहार से लौटा ),
गोविंद कॉलोनी आमला निवासी 20 वर्षीय युवक ,(पॉजिटिव का प्राथमिक संपर्क )
गोविंद कॉलोनी आमला निवासी 4 माह का बालक (पॉजिटिव का प्राथमिक संपर्क)
रेलवे कॉलोनी आमला निवासी 25 वर्षीय युवती (पॉजिटिव का प्राथमिक संपर्क )
हिवरखेड़ प्रभातपट्टन निवासी 23 वर्षीय युवक (इंदौर से लौटा ),
शाहपुर निवासी 45 वर्षीय पुरुष ,

हेटी मुलताई निवासी (3 व्यक्ति ) 21 वर्षीय युवक (पॉजिटिव का प्राथमिक संपर्क )45 वर्षीय (पॉजिटिव का प्राथमिक संपर्क )
तथा 50 वर्षीय पुरुष (पॉजिटिव का प्राथमिक संपर्क )
रानीपुर घोड़ाडोंगरी निवासी 25 वर्षीय युवक,
बारव्ही सेहरा बैतूल निवासी 30 वर्षीय युवक(श्रीनगर से लौटा )

कक्षा 11वीं में प्रवेश लेने वाले प्रत्येक विद्यार्थी की काउंसिलिंग होगी


काउंसिलिंग का दो दिवसीय प्रशिक्षण आयोजित

बैतूल भोपाल–शासकीय शालाओं में कक्षा 11वीं में प्रवेश लेने वाले प्रत्येक छात्र-छात्रा की काउंसिलिंग की जाकर उनकी रूचि और क्षमता के अनुरूप संकाय आवंटित किए जाएंगे। विस्तृत जानकारी देते हुए बताया गया कि एमपी कैरियर मित्र एप के माध्यम से जनवरी 2020 में शासकीय शालाओं में कक्षा 10 में अध्ययनरत समस्त छात्र-छात्राओं का अभिरुचि और अभिक्षमता परीक्षण किया गया था जिसके तहत 90 मिनट का टेस्ट बच्चों का लिया गया, जिससे छात्र-छात्राओं की रूचि और उनकी क्षमता का आंकलन किया जा सके। इसी क्रम में उत्तर वर्ती कार्यक्रम के रूप में मध्यप्रदेश शासन स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा mpaspire.com पर शासकीय शालाओं में कक्षा नवी से 12वीं के समस्त छात्र छात्राओं का प्रोफाइल पंजीयन कराया जा रहा है। इस पोर्टल पर छात्र-छात्राओं को अपने कैरियर चुनने के लिए लगभग 550 कैरियर्स, लगभग 21000 कॉलेजेस में 262000 कोर्सेज, लगभग 1150 प्रवेश परीक्षाओं और इसी प्रकार हायर सेकेंडरी उत्तीर्ण करने के पश्चात लगभग 1100 प्रकार की छात्रवृत्तिओं के बारे में एक ही प्लेटफार्म पर जानकारी उपलब्ध होती है।

जिले में 09 एवं 10 जुलाई 2020 को समस्त शासकीय हाई स्कूल एवं उच्चतर माध्यमिक विद्यालय, प्रत्येक शाला से प्राचार्य एवं दो शिक्षकों को इस संबंध में प्रशिक्षण प्रदान किया गया। यह शिक्षक अपने विद्यालयों में काउंसलर्स का कार्य करेंगे। प्रशिक्षण के दौरान कलेक्टर श्री राकेश सिंह एवं सीईओ जिला पंचायत श्री एमएल त्यागी द्वारा छात्र छात्राओं को कैरियर के चुनाव में रुचि के साथ क्षमता का ध्यान रखे जाने एवं उन्हें उपलब्ध होने वाले अवसरों के बारे में विस्तार से अवगत करा पाने के लिए आयोजित इस प्रशिक्षण के महत्व को समझने हेतु शिक्षकों और प्राचार्यों से उम्मीद जाहिर की। उन्होंने उम्मीद जताई कि प्रत्येक छात्र जो संकाय का चयन 11वीं कक्षा में करता है इसमें उसकी रूचि, क्षमता और उसकी वर्तमान परिस्थितियों, आर्थिक आवश्यकताओं का भी ध्यान रखा जाए। उन्होंने प्राचार्यों को निर्देशित किया कि प्रवेश के समय प्रत्येक बच्चे के साथ काउंसलिंग अनिवार्यत: संपादित की जाए। प्रशिक्षण के दौरान प्रत्येक विकासखंड से 2-2 शिक्षकों को मास्टर ट्रेनर के रूप में भोपाल से प्रशिक्षित किया जा चुका है। वर्तमान में दो दिवसीय प्रशिक्षण के माध्यम से प्रत्येक शाला से 2 शिक्षक एवं प्राचार्य प्रशिक्षित किए गए हैं जिसका लाभ निश्चित रूप से छात्र-छात्राओं को कैरियर के चयन करने में होगा।

इस प्रशिक्षण में जिला शिक्षा अधिकारी श्री एलएल सुनारिया द्वारा प्रवेश के समय से ही काउंसलर्स द्वारा बच्चे की प्रोफाइल बना लिए जाने, नियमित रूप से उनकी काउंसलिंग करते रहने का आग्रह शिक्षकों एवं प्राचार्य से किया गया। जिले के अतिरिक्त जिला परियोजना समन्वयक राष्ट्रीय माध्यमिक शिक्षा अभियान श्री संजीव श्रीवास्तव एवं डीपीसी श्री सुबोध शर्मा द्वारा विस्तार से एमपी कैरियर मित्र, एमपी एस्पायर पोर्टल, काउंसलर्स से अपेक्षाएं इत्यादि की बारीकियों के बारे में प्रशिक्षण प्रदान किया गया। प्रशिक्षण अंतर्गत जिले के जिला स्तरीय मास्टर ट्रेनर्स श्री संजय व्यास एवं श्री विनोद पड़लक के साथ डीईओ कार्यालय से श्री विनोद लिखितकर द्वारा भी सक्रिय सहयोग प्रदान किया गया।

प्रदीप डिगरसे मुलतापी समाचार बैतूल

हिन्दू सेना ने ओमनी वाहन में पकड़ा गौवंश


गौवंश तस्कर ने ओमनी संवारी गाड़ी को बनाया अपना जरिया

बैतूल — संगठन के जिला मिडिया प्रमुख सुरज खड़िया ने बताया कि संगठन के जिला संयोजक पवन मालवीय को सुचना मिली की गौमाता से भरी हुई एक ओमनी गाड़ी बैतूल की ओर आ रहीं हैं तभी संगठन के कार्यकर्ताओं ने पुलिस प्रशासन की मदद से गौमाता से भरी हुई ओमनी संवारी गाड़ी को पकड़ लिया गया
जिला संयोजक पवन मालवीय ने बताया कि गांव देशावाडी से एक ओमनी गाड़ी में ठुस ठुस कर 3 नग गौमाता को पेरो एवं मुंह को बांध कर कत्लखाने ले जाया जा रहा था जिसे हमनें पाढर पुलिस प्रशासन के सहयोग से पकड़ लिया गया और गौमाता को गोशाला भिजवा दिया गया।

प्रखंड अध्यक्ष दीपक कोसे ने बताया कि MP 48 D 0049 हमने पकड़ा है आएं दिन बैतूल जिले में गौमाता तस्करी की सुचना प्राप्त होती है कई गाड़ियां हमारे हाथों से भाग निकती है प्रशासन को रात्रि में गस्त के दौरान गाड़ियों को चेक करना चाहिए ताकी गौवंश तस्करी रूक सके।

प्रदेश अध्यक्ष दीपक मालवीय ने कहा कि
आज़ राष्ट्रीय अध्यक्ष माननीय श्री सुरेन्द्र सिंह जी परमार ने संगठन का निर्माण जो विचार धाराओं के लिए तैयार किया था वह गौमाता की सेवा सुरक्षा एव रक्षा के जरिए किया जा रहा है आएं दिन आप सभी देखते हैं संगठन प्रति महिने दर्जनों गौमाता की रक्षा कर रहा है यह सफलता का फल परम आदरणीय राष्ट्रीय अध्यक्ष को जाता है।

प्रदीप डिगरसे मुलतापी समाचार बैतूल 9584390839