Tag Archives: मनोरंजन

100 से अधिक जनसमूह के कार्यक्रम के लिए अनुमति लेना आवश्यक, नई गाइडलाइन जारी


धार्मिक स्थलों पर फेस मास्क लगाना एवं सोशल डिस्टेंसिंग का पालन जरूरी

कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी श्री राकेश सिंह द्वारा जिले में सामाजिक/शैक्षणिक/खेल/ मनोरंजन/सांस्कृतिक/राजनैतिक/रामलीला एवं रावण दहन आदि के लिए आगामी आदेश तक के लिए अतिरिक्त आदेश जारी किए गए हैं।

सामाजिक, शैक्षणिक, खेल, मनोरंजन, सांस्कृतिक, राजनैतिक, रामलीला एवं रावण दहन आदि कार्यक्रमों के खुले मैदान में जनसमूह के संबंध में

खुले मैदान में उक्त प्रकार के कार्यक्रमों के लिए मैदान के आकार को दृष्टिगत रखते हुए तथा फेस मास्क, सोशल डिस्टेंसिंग, सेनेटाइजेशन एवं थर्मल स्केनिंग की व्यवस्था के पालन करने की शर्त पर 100 से अधिक संख्या के जनसमूह के कार्यक्रमों के लिए संबंधित अनुविभागीय मजिस्ट्रेट/कार्यपालिक मजिस्ट्रेट सह इंसिडेंट कमांडर से अनुमति प्राप्त की जाएगी।उपरोक्त प्रकार के कार्यक्रम कन्टेन्मेंट जोन में आयोजित नहीं किए जा सकेंगे।इस प्रकार के कार्यक्रमों के आयोजन के लिए आयोजकों को संबंधित अनुविभागीय मजिस्ट्रेट/कार्यपालिक मजिस्ट्रेट सह इंसिडेंट कमांडर को लिखित में आवेदन करना आवश्यक होगा तथा आवेदन में कार्यक्रम की तिथि, समय, स्थान एवं संभावित संख्या का उल्लेख करना आवश्यक होगा।

संबंधित अनुविभागीय मजिस्ट्रेट/कार्यपालिक मजिस्ट्रेट सह इंसिडेंट कमांडर द्वारा प्राप्त आवेदन पत्र पर विचारोपरान्त कार्यक्रम की लिखित अनुमति प्रदान की जाएगी, जिसमें उक्त संख्या एवं शर्तों का पालन कराने की जवाबदारी आयोजकों की होगी।उक्त प्रकार के आयोजनों की वीडियोग्राफी आवश्यक रूप से कर आयोजकों को कार्यक्रम समाप्ति के 48 घंटों में प्रति संबंधित संबंधित अनुविभागीय मजिस्ट्रेट/कार्यपालिक मजिस्ट्रेट सह इंसिडेंट कमांडर को अनिवार्यत: उपलब्ध करानी होगी।

जिले में आगामी आदेश तक धार्मिक स्थलों पर मेलों के आयोजन आदि पर प्रतिबंध रहेगा। जिले में जिन स्थानों पर पूर्व से मेलों आदि का आयोजन होता रहा है, उन स्थानों को चिन्हित कर उक्त मेलों आदि में भाग लेने वाले श्रद्धालुओं को संंबंधित संबंधित अनुविभागीय मजिस्ट्रेट/कार्यपालिक मजिस्ट्रेट सह इंसिडेंट कमांडर द्वारा उचित माध्यम से समय पूर्व सूचित कराया जाएगा।धार्मिक स्थलों पर जहां बंद कक्ष अथवा हॉल में श्रद्धालु एकत्र होते हैं, वहां संबंधित अनुविभागीय मजिस्ट्रेट/कार्यपालिक मजिस्ट्रेट सह इंसिडेंट कमांडर द्वारा कुल उपलब्ध स्थान के आधार पर इस प्रकार अधिकतम सीमा नियत की जा सकेगी, जिसमें उपलब्ध स्थान में श्रद्धालुओं के मध्य दो-गज दूरी सुनिश्चित करते हुए पूजा/अर्चना की जा सके।

किन्तु उक्त संख्या किसी भी स्थिति में एक समय में 200 से अधिक नहीं होगी। साथ ही धार्मिक स्थल प्रबंधन को यह सुनिश्चित करना होगा कि कोविड-19 रोकथाम के तारतम्य में फेस मास्क की बाध्यता एवं सोशल डिस्टेंसिंग का पालन धर्मावलंबियों द्वारा किया जाए।बिना अनुमति 100 से अधिक जनसमूह के कार्यक्रम करने अथवा प्रदत्त अनुमति में उल्लेखित शर्तों के उल्लंघन करने अथवा उपर्युक्त कण्डिका में उल्लेखित कार्य में शर्तों का उल्लंघन करने पर संबंधितों के विरूद्ध धारा 188 भारतीय दण्ड विधान के अंतर्गत वैधानिक कार्रवाई की जाएगी।

कलेक्टर के आदेशानुसार समूचे जिले में दुकानें, बाजार, मॉल अपने निर्धारित समय तक खुले रह सकेंगे।

रामायन की सीता के लिए कई ऑडिशन्स के बाद मिला था रोल -Deepika Chikhaliya


Ramayan me Sheeta ji Rol Play -Deepika Chikhaliya

Multapi Samachar

इन दिनों दूरदर्शन पर Ramayan का प्रसारण सुबह और रात को रोजाना हो रहा है। लॉकडाउन के बीच लोग इस पौराणिक सीरियल का लुत्फ ले रहे हैं। सीरियल में निभाया गया हर किरदार उसे निभाने वाली की जिंदगी से जुड़ गया और आज भी उन्हें देखकर लगता है सच में वो किरदार जिंदा है। फिर से टेलिकास्ट हो रहे इस सीरियल ने टीआरपी के रिकॉर्ड तोड़ दिए हैं। ऐसा ही एक किरदार है माता Sita का। रामायण में यह किरदार Deepika Chikhaliya ने निभाया था। हालांकि, इसके बाद दीपिका ने जैसे छोटे पर्दे को अलविदा ही कह दिया।

हालांकि, रामायण में काम के पहले दीपिका ने कई टीवी शो में काम किया था। दीपिका ने रामानंद सागर के ही सीरियस ‘विक्रम बेताल’ में कई कहानियों में रानी का रोल किया है। हालांकि, इसके बावजूद उन्हें रामायण में सीता का रोल पाने के लिए कड़ी मशक्कत करनी पड़ी थी। हालांकि, उन्हें वो पहचान मिल चुकी थी जिसकी वजह से उन्हें काफी काम मिलने लगा था लेकिन इसके बावजूद उन्हें ऐसा रोल नहीं मिला था जो उनकी तकदीर बदल दे।

एक इंटरव्यू में में दीपिका ने कहा था ”जब उन्हें स्क्रीनप्ले राइटर ने बताया कि रामानंद सागर ‘रामायण’ बना रहे हैं और मुझे इसके लिए स्क्रीन टेस्ट देना चाहिए। यह जानकर मैंने सागर साहब से बात की। रामानंद सागर मुझसे बोले कि आपने पहले कहा था सीता के लिए लेकिन तब रामायण नहीं बन रही थी लेकिन अब काम चल रहा है तो आकर स्क्रीन टेस्ट दे दो। इसके साथ ही सागर जी ने कहा कि वो तब तक सीता का कैरेक्टर तय नहीं करेंगे जब तक मैं उस हिसाब से ड्रेस और डायलॉग फ्रीज नहीं कर देती।”

बता दें कि दीपिका के अलावा 20-25 लड़कियों ने उस समय सीता के किरदार के लिए स्क्रीन टेस्ट दिया था। इसके लिए सभी को 4-4 पेज दिए गए थे जिसमें डायलॉग्स थे। दीपिका ने बताया ”रामानंद सागर डायलॉग बोल रहे थे और हमें चलकर सामने से आना था। उन्होंने कहा कि अब ऐसे आओ जैसे राम वनवास को जा रहे हैं। इसी वक्त वो हर चीज का मॉक टेस्ट भी ले रहे थे। इतने सब के बाद जब रामानंद सागर ने सब खत्म किया तब अंत में कहा कि यही हमारे सीरियल के लिए सीता होगी।”