Images

कोरोना काल के चलते घर-घर में ही हुई वृषभराज की पूजा


बैतूल जिले में मंगलवार को पोला पर्व पूरे उत्साह और सादगी के साथ मनाया गया। ग्राम रोंढा, खड़ला, करजगाँव, नयेगाँव, सावंगा, भडूस, दनोरा सहित आसपास के गांवों में पोला पर्व पूरे उत्साह और सादगी के साथ सभी ने अपने ही घर में मनाया। कोरोना महामारी के चलते पहली बार हुआ कि घरों में ही बैलों की पूजा-अर्चना की, इस वर्ष तोरण भी नही बांधी गई और ना ही बैलों को दौड़ाया गया। सभी ने प्रशासन के दिशा निर्देशों को ध्यान में रखते हुए घरों में ही वृषभराज को सजाया, पूजा-अर्चना की और विभिन्न प्रकार के बने भोजन भी भोग भी लगाया। कोरोना काल के चलते ऐसा पहली बार हुआ कि वृषभराज को तोरण के नीचे सजाकर नही लाया गया और वर्षों पुरानी परम्परा को बनाए रखने के लिए घरों में ही वृषभराज का पूजन किया गया।

मंत्री पी सी शर्मा का बयान…


कोंग्रेस बहुमत में है।

पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह पर बोला हमला की चोर कह रहे है कि हम पर हमला हो जाएगा।

हॉर्स ट्रेडिंग कर रही है बी जे पी और राज्यपाल पर दबाब बना रही है।की जल्दी फ्लोर टेस्ट कराओ।

बंगलुरु मे विधायको की पत्रकार वार्ता पर बोले कि बंदूक की नोक पर उनसे बुलवाया जा रहा है। पत्रकार वार्ता करनी है तो भोपाल आकर करे।

मुलतापी समाचार का वीडियो चैनल देखें पढ़े लाईक शेयर करें सब्सक्राइब करें

वीडियो देखे के लिंक पर जाएं बटन दबाए

अंराष्‍ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर मातृ शक्ति सम्मेलन का आयोजन


विधायक निलय डागा द्वारा दीप प्रज्जवलन करते हुए

उत्कृष्ट महिलाओं का हुआ सम्मान समारोह

कलेक्‍टर राकेश सिंह एवं जिला पंचायत सीईओ एमएल त्‍यागी जी द्वारा दीप प्रज्जवलन करते हुए

बैतूल। महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर आज दोपहर 12 बजे रामकृष्ण बगिया सिविल लाइन बैतूल में मातृ शक्ति सम्मेलन आयोजित किया गया। कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि विधायक बैतूल निलय डागा शामिल हुए। कार्यक्रम की अध्यक्षता कलेक्टर राकेश सिंह ने की। कार्यक्रम में विशिष्ट अतिथि समाजसेवी श्रीमती दीपाली डागा, श्रीमती पूनम पटेल, श्रीमती नीलम वागद्रे एवं श्रीमती मीनाक्षी शुक्ला उपस्थित थी। 


कार्यक्रम की शुरूआत विधायक निलय डागा द्वारा दीप प्रज्जवलन कर की गई। इस मौके पर कार्यक्रम को संबोधित कर उन्होंने सबसे पहले कार्यक्रम में उपस्थित सभी महिलाओं को महिला दिवस की शुभकामनाएं दी और कहा कि आज किसी भी क्षेत्र में महिलाएं पुरूषों से कम नहीं है। सभी क्षेत्रों में महिलाओं का प्रतिनिधित्व और संचालन बढऩा मातृशक्ति का ही एक जीता जागता स्वरूप है। समाचार लिखे जाने तक कार्यक्रम चल रहा था। 

महिला दिवस पर आयोजित कार्यक्रम में कलेक्टर राकेश सिंह ने कहा कि आज के दौर में पुरूषों के मुकाबले महिला लिंगानुपात कम होना सबसे ज्यादा चिंता का विषय है. उन्होंने कहा की 1000 बच्चों में 917 बच्चियां जन्म ले रही हैं, इस पर जब बात होती है तो कारण आते हैं शिक्षा का अभाव, समृद्धि का अभाव, हम सोचते हैं कि जैसे-जैसे समाज मे विकास होगा ये सुधरेगा. लेकिन दुर्भाग्य है ऐसा सही नही है. जैसे-जैसे समृद्धि बढ़ती है समाज में बालिकाओं के जन्म के प्रति जो रुचि है वो और कम होते चली जाती है, जो चिंता का विषय है. कलेक्टर ने कहा कि सबसे अच्छा अनुपात छत्तीसगढ़ का है. ये बहुत चिंता का विषय है कि समृद्धि के साथ ये अनुपात नीचे चला जा रहा है. सारे सोशल इंडेक्स समृद्धि के साथ अच्छे होने लगते हैं.

कार्यक्रम के दौरान विभिन्न क्षेत्रों में उत्कृष्ट कार्य करने वाली महिलाओं का सम्मान किया गया जिसमें मेें सर्वप्रथम जिले की एक मात्र पत्रकार महिला गौरिबाला एवं दुर्गा बोरवार बैतूल स्टेशन की पहली महिला कुली  है  का भी सम्‍मान किया गया और प्रतिभावान स्‍कुली छात्राओं, कराटे चेंपियन, ब्‍लॉक सीडीपीओं, सुपरवाईजरों, आंगनवाडी कार्यकताओं का प्रस्‍सति पत्र भेटकर किया गया।